Homeउत्तर प्रदेशबलिया सिर्फ एक जिला नही बल्कि बलिया एक राष्ट्र है

बलिया सिर्फ एक जिला नही बल्कि बलिया एक राष्ट्र है

रिपोर्टर  नियाज अहमद

डॉ हजारी प्रसाद द्विवेदी का यह वाक्य जब भी मैं पढ़ता हूं मुझे लगता है कि वे कितने दूरदर्शी थे जिन्होंने बलिया को लेकर एक गौरवांवित करने वाला विषय दुनियां के समक्ष रखा ,आज के कठिन दौर में जब पूरी दुनियां निराशा के आकंठ में डूबी है पूरे ब्रह्मांड में दूर दूर तक कोई आशा की किरण नही दिखाई दे रही थी वही चुप चाप बिना किसी पब्लिसिटी अपने ज्ञान बुद्धि विवेक का सही प्रयोग कर इस भयावह महामारी में एक बेहतर उम्मीद की किरण बलिया के एक लाल ने अपने प्रयास से कर के दिखाया है। भारत पर जब संकट आया फिर मंगल पांडेय की क्रांति से साहित्य को नई दिशा देने वाले डॉ हजारी प्रसाद द्विवेदी जी की कलम तक और वर्तमान समय में चिक्तिसा विज्ञान के क्षेत्र में भी पुनः मिश्र चक बलिया निवासी वैज्ञानिक डॉ अनिल मिश्र ने संकट के दौर में भरोसे का स्तर ऊंचा किया है ,जिनके शोध के परिणाम द्वारा कोरोना की 2-DG दवा को लेकर एक उम्मीद जगी है. क्लिनिकल ट्रायल के बाद ये बात सामने आई है कि अस्पतालों में भर्ती मरीजों पर ये दवा तेजी से काम कर रही है और वे जल्दी ठीक हो रहे हैं. इसके साथ ही इस दवा को खाने के बाद ऑक्सीजन पर निर्भरता भी कम हो रही है।
डॉ. अनिल मिश्र ने साल 1984 में गोरखपुर यूनिवर्सिटी से एम.एससी और 1988 में बीएचयू से केमेस्ट्री में पीएचडी की है।
साल 1997 में डॉ. अनिल मिश्र डीआरडीओ से बतौर सीनियर साइंटिस्ट जुड़ गए. वह इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज में थे.।
डॉ. अनिल मिश्र अभी डीआरडीओ के साइक्लोट्रॉन और रेडियो फार्मास्यूटिकल साइंसेज डिवीजन में काम करते हैं. रेडियोमिस्ट्री, न्यूक्लियर केमिस्ट्री और ऑर्गेनिक केमिस्ट्री पर उनका रिसर्च जारी है.।
उन्होंने अप्रैल 2020 में ही इस दवा पर काम करना शुरू कर दिया था. पिछले साल जब कोरोना पीक पर था तभी हैदराबाद में इस दवा की पहली टेस्टिंग भी हुई थी जो अपने मानक पर खरा उतरी है ।
मैं बलिया के ऐसे लाल डॉ अनिल मिश्र पर गर्व का अनुभव करता हूं जिन्होंने पूरी दुनियां के लिए एक रास्ता दिया है ,हालांकि की यह अंत नही है लेकिन जब परिणाम अनुकूल है फिर मुझे विस्वास है कि यही डॉ अनिल मिश्र एवं उनकी पूरी टीम इस दिशा में अपने ज्ञान और विवेक से पूरी मानवता को बचाने में अपना अहम योगदान देंगे ।मैं प्रभु से ऐसे इंसान के लिए प्रार्थना करूंगा कि उन्हें और शक्ति एवं ऊर्जा प्रदान करे।
मनोज कुमार दुबे

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!